Best My 1st Day at College After Covid-19?

1st Day at College After Covid-19

Read Also: School Love Story

1st day at college after covid-19:: में बहुत दिनों से इंतजार कर रहा था के कब स्कूल कॉलेज ओपन होंगे? क्यू की Covid-19 के कारन हमने लगभग 2 साल घर पर ही बिताया है. ना क्लास ना कॉलेज, स्कूल। Covid-19 के कारन हमें स्कूल से 10th क्लास प्रमोट कर दिया गया था without एग्जाम के हमें पास कर दिया गया था

4 ओक्टोबर को हमरी जूनियर कॉलेज ओपन हो रही थी। में बहुत ज्यादा एक्ससाइड था। में कभी सुभे जल्दी उठता नई But उस दिन में फर्स्ट अलार्म में ही उठ गया। जैसे ही अलार्म बजा जट से उठकर फ्रेश हो गया। पानी पिया और कॉलेज के लिए निकल गया।

रात को बारिश आने के कारन मेरी साइकिल के सीट पर पानी जम गया था अगर में सीट पर बैठता तो मेरी पैंट गिला हो जाता था इसलिए मैंने मेरी साइकिल के सीट को एक नायलॉन के बैग से ढग दिया और चल दिया कॉलेज।

मन ही मन में बहुत खुश हो रहा था क्यू की यार २ साल बाद हम कॉलेज जा रहे है 1st day at college । बट मुझे कॉलेज का रास्ता नई मालूम में जब कॉलेज एडमिशन के लिया गया था तो मेरे दोस्तों ने ले कर गए था इसलिए मुझे पूरा रास्ता भी याद नै था फिर भी में चल दिया क्यू की में १ घन्टे पहले निकला था।

जैसे तैसे कॉलेज पहुंच गया। कॉलेज के बहार ज्यादा बचे नई दिख रहा था। लेकिन कोई भी स्टूडेंट अंदर नई जा रहा था, में भी वही पर सबकी तरह बहार रुका रहा। कुछ टाइम बाद स्टूडेंट आने लगे। मेरी तरह वह भी एक्ससाइड दिख रहे थे और नरवर भी।

सब नए चेहरे थे नए लोग थे नए टीचर, सर थे। कुछ टाइम बाद एक लड़का मुझे पूछा “तू कोनसे स्ट्रीम से है ” मैंने जवाब दिया “साइंस , तू ” वह लड़का कॉमर्स स्ट्रीम से था मुझसे मेरा नाम पूछा मैंने उससे उस का नाम पूछा बट हमने बातें नई लिया।

फिर थोड़ी देर बाद सब कॉलेज के अंडर जा रहे थे तो हम भी जाने लगे। वह फर्स्ट इम्प्रेशन सब के चेहरे पर एक हलकी सी स्माइल दिख रही थी। सब स्टूडेंट फर्स्ट फ्लोर पर खड़े थे।

मैडम ने फिर सबको कहा “जो साइंस आईटी वाले है वह सामने वाले क्लास में चले जाओ और जो साइंस बायो वाले है वह मेरे सामने वाले क्लास में चले जाओ “ऐसे ही कॉमर्स के स्टूडेंट को भी अपने क्लास का डायरेक्शन बताया वह भी अपने अपने क्लास में चले गए।

में जैसे ही क्लास में एंटर किया में सोच रहा था कहा बैठु मुझे एक साइलेंट एरिया चाहिए था इसलिए में पीछे जाकर बैठ गया। सब अपने अपने बेंच पर बैठ गए। सब चुप चाप कोई किसी से बात नै कर रहा है क्यू की सब अनजान है एक दूसरे से मेरे सपने वाले एक लड़के ने मेरा नाम पूछा मैंने भी उस का नाम पूछा बट हम बस नाम तक ही रह गए। दोस्त बनना है की पूछा ही नई।

फिर कुछ समय बाद फिजिक्स की टीचरआई मुझे लगा की 1st day से चैप्टर चालू करेंगे बट नै टीचर ने फर्स्ट डे को पेपर पैटर्न बतानी लगी कितने मार्क्स का पेपर होगा प्रैक्टिकल कितने मार्क्स का होगा वगैरा वगैरा।

पूरा टाइम इसमें चला गया पता ही नै चला। लास्ट में टीचर ने हमें फिजिक्स के Laws लिखने बोल दिया 20 Laws लिखने थे मुझे तो पता ही नै कितने लॉज़ थे हमें लॉक डाउन के वजह से सब Out of mind था।

फिर नेक्स्ट टीचर अति है। वह टीचर हमारी इंग्लिश की होती है। आते ही हमारी इंट्रोडक्शन लेनी लगी, फर्स्ट एक गर्ल थी दिखने में तो ब्यूटीफुल थी अपना नाम बताई कोनसे स्कूल से 10वी पास किया उस स्कूल का नाम बताया और अपना पर्सेंटेज बताया मुझे तो सुनाई भी नै दे रही थी क्यू की में एकदम लास्ट बेंच पर बैठा था।

ऐसे ही सबका इंट्रोडक्शन लिया, मेरा भी लिया इंट्रोडक्शन। फिर क्या हर लैंग्वेज टीचर की तरह चैप्टर के ५ लाइन पढ़ने को लगा दी टीचर ने अपनी टाइम भी इसी में बिता दिया और मेरा नंबर भी नै आया था. अटेंडेड लिया और चली गई।

नेक्स्ट टीचर आई और मेरा फवौरीत सब्जेक्ट में से आईटी को लेकर आई। मुझे कंप्यूटर के बारे में जानना बहुत पसंत है। टीचर ने भी हमारी इंट्रोडक्शन लिया नाम, स्कूल नाम और परसेंटेज सबने बताया। सभी टीचर ने फर्स्ट डे को पेपर पैटर्न बताया। आईटी का पेपर पैटर्न बहुत इजी लग रहा था। टीचर ने अपने सब्जेक्ट के बारे में बताया कुछ इनफार्मेशन दिया और चली गई।

फिर अति है हमारी क्लास टीचर. हमारी क्लास टीचर बहुत क्यूट दिखती ह उनके चश्म पहनने से शायद और भी ज्यादा क्यूट दिख रही थी। हमरी अटेंटेंड लिया और हमें घर जाने को कह दिया।

पुरे ३ घंटे का कॉलेज था। और मैंने किसी से बात भी नै किया इवन किसी ने भी एक दूसरे से बात नै किया ३ घंटे बस चुप चाप बैठे थे शायद यह पहला दिन था इसलिए। में भी क्लास से बहार आया और किसी से बात न करके सीधा साइकिल के पास गया साइकिल निकली और घर के लिए रवाना हो गया।

रास्ता चढान होने के कारन मुझे कॉलेज आने को थक गया था बट जाते समय मुझे कुछ महसूस नै हुआ क्यू की ढलान थी। में कोई जगह नै रुका फुल स्पीड में घर आ गया और अपने दोस्तों को फर्स्ट डे ऑफ़ कॉलेज के बारे में बताने लगा। जो भी था बट मुझे फर्स्ट डे कॉलेज का अच्छा लगा।

आपको आपके जूनियर कॉलेज फर्स्ट डे कैसा लगा हमें भेज सकते है हम आपके भी स्टोरी को भी पोस्ट करेंगे

Writer & Author : Faruk Gazi

Leave a comment