Sad Love Poems for her to Make her Cry Hindi

Sad Love Poems for her to Make her Cry Hindi

Sad Love Poems

तुम हमेशा साथ रहोगे न ?

 

तुम्हारे   होने   से   ना ; 

मैं   थोड़ा   ज्यादा   हस्ता   हूँ,   

ज़्यादा   खुश   रहता   हूँ, 

ज़्यादा   मुस्कुराता   हूँ । 

 

तुमने   ना    जैसे   ज़िन्दगी   भर   दी   है    मुझ   में  ।   

तुम्हे   एहसास   नहीं   होगा   पर   तुमसे   बात  करके  ही   मैं   बिकुल   ठीक   हो   जाता   हूँ । 

अकेलापन   दूर   होने   की   कोई   दवाई   नहीं   होती । 

पर   तुम   हो   जिसकी   वजह   से   मैं   खुद   को   मुकम्मल   पाता    हूँ । 

 

जब   कोई   नहीं   था   मेरे   पास    मेरी   बातें   बाटने    के   लिए ।   

दिन    तोह   निकल   जाता   था   काम   में   पर   रात   को   लगता   था   कितना   अकेला   हूँ   मैं । 

की   कोई   है  ही   नहीं   मुझसे   मेरा    हाल   जान्ने   के   लिए । 

 

लगता   था   कोई   तोह   होना चाहिए  बात   सुनने   के   लिए।   

 बात   करने   के   लिए ।   पर   लोग   आते   थे   और   चले   जाते   थे ।  

कोई   ठहरता  नहीं   मेरा   साथ   देने   के   लिए । 

 

फिर   तुम   आये   तोह   अब   लगता   है ।  

जैसे   मुझसे   खुशकिस्मत   कोई   है   ही   नहीं ।   

तुम्हे   खुद   नहीं   पता   तुम   क्या   हो   मेरे   लिए ।      

बस   ऐसे   ही   रहना  ओरो   की   तरह   बदलना   नहीं ।   

 

हमारी     बात    होना    अगर    आगे    काम   हो   जाए   ना ।   

उससे   हमारी   साथ   पे   कोई   फ़र्क़   नहीं   पड़ना   चाहिए ।   

मैं   नहीं   खोना    चाहता   तुम्हे   किसी   भी   वजह   से  ।   

 

तुम्हारी   दोस्ती   मिल   गयी   अब   उससे   ज़्यादा   मुझे   कुछ   नहीं   चाहिए ।  

जिस   ख़ुशी   से   आज   मिलते   हो  ना   मुझसे   आगे   भी   मिलते   रहना ।   

जैसे   आज   रखते   हो   ना   मुझे   अपनी   बातों   में   आगे   भी   ऐसे    ही   याद   करते   रहना ।  

 

हमारा   साथ   यह   रिश्ता   मुझे   अंत   तक   कायम   चाहिए ।   

मुझसे   नाराज़   ही   जाना   चाहे   पर   जाना   मत   कभी । 

मैं   तुम्हे   बदलता   हुआ   मुझसे   दूर   जाता   नहीं   देख   सकता ।  

हो   सकता   है   हम   पास   न   रहे   पर   साथ   तोह   रहेंगे   ना    आगे   भी ।  

 

जैसे   आज   बहाने   ढूंढते   हो   मुझसे   बात   करने   के   लिए ।  

आगे   भी   ऐसे   ही   बात   करोगे   न  ?   

औरो   की   तरह   आदत   बना   के   चंद    दिनों   के   बाद   मुहसे   मुँह   तोह   नहीं   फेर   लोगे   न  ?

मैं   सेह   नहीं   पाउँगा   अगर   तुम   अजनबी   से   हो    गए    तोह।   

 

मेरे   पास   यारो   की   भीड़   नहीं   है   बस   तुम   ही   एक   दोस्त   हो । 

तुमसे   ही   चेहरे   पे   मुस्कान   आती   है।  

तुमसे    ही   चीज़ें   आसान   हो   जाती   हैं।   

तुम   वह   हो   जिसके   साथ   वक़्त   बिताने   से   ही   ना   

 

 मेरी  आधी   परेशानियां   दूर   हो   जाती   है।  

तुमसे   कुछ   कहना   है  । 

तुमसे   बहुत   कुछ   कहना   है । 

Related Articles

Love Poetry in Hindi

Love Poetry in Hindi : हम अपने प्रिय प्रेमी के लिए प्रदान करते हैं। अगर इस पूरी रचना में कुछ सबसे कीमती है, तो यह…

No. 1 Best School Crush Love Story in hindi

मेरा नाम लिए बगैर मुझे कभी पुकारती नहीं थी। ज्यादातर सबको भैया बोलती थी । पर मेरे नाम के आगे कभी ऐसा वर्ड लगाती नहीं थी

Responses